Ticker

6/recent/ticker-posts

अब्दुल कलाम का जीवन परिचय biography of kalam in hindi


अब्दुल कलाम का जीवन परिचय

अब्दुल कलाम का जन्म  अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को तमिलनाडु के रामेश्वरम में  हुआ इनका पूरा नाम अवुल पाकिर जैनुलाबदीन था। और इनके पिता का नाम जैनुलाबदीन और माता का नाम असिंमा था। इनके पिता एक नाविक थे जो रामेश्वरम दर्शन करने तीर्थ यात्रियों को इस पार से उस पार ले जाते थे इनके पिता की कमाई से घर का खर्चा बहुत मुश्किल से चल पाता था।
इनकी आर्थिक स्थिति ठीक न होने कारण अब्दुल कलाम को छोटी उम्र में ही काम करना पड़ा। वह घर वालो की मदद करने के लिए अखबार बेचने का कार्य करने लगे थे।



Wayfarers Club: A.P.J = Respect Always!




स्‍नातक व अध्‍यापन

इनके अंदर हमेशा कुछ नया सीखने की इच्‍छा रहती थी उन्होंने अपनी स्कूल की पढ़ाई पास के ही एक साधारण स्कूल से की बाद उन्होंने सेंट जोसेफ्स कॉलेज से सन 1954 में भौतिक विज्ञान में ग्रेजुएशन किया।
अब्दुल कलाम के पढने लिखने को देखकर उनके माता पिता ने आर्थिक स्थिति ठीक न होने के बावजूद  भी अपना पूरा सहयोग किया। पढ़ाई के लिए 1955 मे मद्रास आ गए और यहाँ मद्रास इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी से आन्तरिक्ष विज्ञान में इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की।
 
यात्रा की शुरूआत

इंजीनियरिंग की पढ़ायी पूरी करने के बाद वह  रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन यानी डीआरडीओ में वैज्ञानिक के पद पर चुने गए। कलाम ने अपने करियर की शुरुआत भारतीय वायुसेना के लिए एक छोटे से हेलिकॉप्टर का डिज़ाइन बना के किया।
अब्दुल कलाम को डीआरडीओ में काम करके संतुष्टि नहीं मिल रही थी कुछ समय यहाँ काम करने के बाद इनका स्थानांतरण भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) में हो गया।
जहां उन्होंने अग्नि और पृथ्वी जैसे मिसाइलों को डिजाइन किया और सफलतापूर्वक मिसाइलों को प्रक्षेपित भी किया। इतना ही नहीं उन्होंने पोखरण में परमाणु परीक्षण करके भारत को परमाणु शक्ति प्रदान किया। और इसी कारण इनको मिसाइल मैन के नाम से भी जाने जाना लगा।


राजनीतिक कार्य


18 जुलाई 2002 को देश के राष्ट्रपति बन गए। कलाम ने इस पद पर देश के हित में बहुत से कार्य किए। इनके भारत के प्रति लगन और समर्पण को देखते हुए इन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया। भारत रत्न कलाम ने अपने पूरे जीवन यात्रा को विंग्स ऑफ फायर नामक पुस्तक मे लिखा है।
कलाम जी का राष्ट्रपति कार्यकाल खत्म होने के बाद उन्होंने अपना जीवन पठन-पाठन में ही व्यतीत किया उन्होंने देश की कई महत्वपूर्ण संस्थाओं जैसे भारतीय प्रबंधन संस्थान शिलांग, भारतीय प्रबंधन विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संस्थान अंतर्राष्ट्रीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान में अपनी सेवा की।


Vajra Mart


जीवन के आखिरी पल

मृत्यु के समय कलाम (IIM)  में भाषण दे रहे थे तभी दिल का दौरा पड़ने पर कलाम की मृत्यु हो गई 27 जुलाई 2015 को अब्दुल कलाम जी ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया।

रोचक तथ्‍य
  1. देश का सबसे अच्छा दिमाग, क्लास रूम की आखरी बेंचो पर मिल सकता है।
  2. जब हमारे हस्ताक्षर, ऑटोग्राफ में बदल जाए तो यह सफलता की निशानी है।

  3. सफलता की कहानियां मत पढ़ो उससे आपको केवल एक सन्देश मिलेगा। असफलता की कहानियां पढ़ो उससे आपको सफल होने के कुछ विचार मिलेंगे।
  4. आपके जीवन में जो दुःख या कष्ट आयेंगे, वो सब आपको बर्बाद करने के लिए नहीं, बल्कि आपकी हिम्मत और साहस को जगाने के लिए आते है जिससे आपको अपने बुरे वक्त से लड़ने की ताकत प्राप्त होगी।
  5. लड़ाई - झगडा किसी भी समस्या का समाधान नहीं है।
  6. एक भिखारी के पास अपना इमान बाकि है तो वो दुनिया का सबसे बड़ा अमीर है और जिसके पास अपना इमान नहीं है वो दुनिया का सबसे बड़ा भिखारी है।


Post a Comment

0 Comments