Ticker

6/recent/ticker-posts

अब्राहम लिंकन का जीवन परिचय Abraham lincoln biography in hindi

अब्राहम लिंकन का जीवन परिचय

अब्राहम लिंकन अमेरिका के 16 राष्ट्रपति थे इनका कार्यकाल 1861 के बीच रहा अब्राहम लिंकन ने देश की एकता के लिए जान दे दी थे जिनकी हत्या कर दी गयी थी आज हम आपको ऐसी जीवनी बताने जा रहे हैं।


Abraham lincoln biography in hindi
Abraham lincoln biography in hindi


अब्राहम लिंकन का जन्‍म

अब्राहम लिंकन का जन्म12 फ़रवरी 1809  केंटकी, अमेरिका में हुआ उनके पिता का नाम थॉमस लिंकन  तथा माता  नाम नेन्सी था। वे एक बहुत ही गरीब परिवार में पैदा हुए थे। अब्राहम की एक बड़ी बहन सारह और एक छोटा भाई थॉमस था, जिनकी बचपन में ही मृत्यु हो गई थी। 

जब अब्राहम लिंकन मात्र 9 साल के थे तब उनकी माता का सन् 1818 में स्वर्गवास हो गया और घर का पूरी जिम्मेदारी उनके बहन सारह पर आ गयी थी घर को स्थिति को देखते हुए उनके पिता थॉमस ने  दिसम्बर 1819 में सारा बुश जॉनसेन  से दुसरी शादी कर ली, जो की एक विधवा थी और उसके 3 बचे भी थे वो बहुत ही  स्नेही तथा उदार भाव की महिला थी। सौतेली माँ होते हुए भी वह लिंकन को अपने बेटे की तरह प्यार करती थी वो हमेशा उन्हें पढ़ने के लिए प्रेरित करती रहती थी। 


शिक्षा व करियर

अब्राहम लिंकन के पिता एक किसान थे, जिनके पास इतने पैसे नही थे की वो अब्राहम का दाखिला किसी स्कूल में करवा  सके। इसी कारण अब्राहम कभी स्कूल गए ही नहीं वे खुद ही पढ़ना लिखना सीखे ,और वकील बने। वे वकील बनने से पहले विभिन प्रकार की नौकरिया भी की। साथ ही साथ वो अब धीरे – धीरे राजनीती की ओर मुड़े।

उन्‍होने अपने जीवन मे नौका वाहक बनकर माल ढोने का का भी काम किया इसके बाद पहलवानो से कुश्ती भी लड़ी और सेना मे भी भर्ती हुए लेकिन उसमे भी इस्तीफ़ा दे दिया।

इसके साथ ही साथ उन्‍होने पोस्‍ट मैन और शराब तक बेचने का काम किया लेकिन उन्‍हे सफलता हाथ नही लगी।

इसके बाद 31 साल की उम्र में व्‍यापार मे असफल, 32 वे  साल की उम्र में स्टेट लेजिस्लेटर चुनाव हार गए इसके बाद 33 वे साल में नया व्‍यापार शुरू किया उसमे भी असफल रहे, 35 साल की उम्र में मंगेतर का देहांत , 36 वे साल में नर्वस ब्रेक डाउन हो गया, 43 वे साल में कांग्रेस के लिए चुनाव लड़ा उसमे भी हार गए 55 साल में सीनेट के भी लिए चुनाव लड़े लेकिन उसमे भी हार गए। इसके बाद वाईस प्रेजिडेंट के लिए चुनाव लड़ा उसमे भी हार गए।


राष्ट्रपति  जीवन

कई प्रकार के संघर्ष करने के बाद अब्राहम ने 4 मार्च 1861 में लिंकन ने राष्टपति पद की सपथ ली अमेरिका का 16 वा और सबसे लोकप्रिय नेता बने।

राष्ट्रपति बनने के बाद लिंकन ने दास प्रथा उन्मूलन के लिए अनेक महत्वपूर्ण काम किये उत्तरी लोग दास प्रथा को खत्म करना चाहते थे दक्षिणी लोग बंधक बनाकर उनसे काम अपना काम करवाते थे इस दास प्रथा को खत्‍म करने के लिए अब्राहम लिंकन विरोध किया।


Abraham lincoln biography in hindi
 Abraham lincoln biography in hindi


लिंकन का विवाह 

सन् 1842 में अब्राहम लिंकन मैरी टॉड नामक लड़की से विवाह किया, कहा जाता है कि लिंकन और मैरी टॉड की 4 संताने हुई। जिनमें  से 3 की बाल अवस्था में ही मृत्यु को प्राप्‍ति हो गई और उनकी एक ही संतान जिन्दा बच पाई।


अनमोल विचार

  1. हमेशा ध्यान में रखिये की आपका सफल होने का संकल्प किसी भी और संकल्प से महत्वपूर्ण है।
  2. निश्चित कर लो कि तुम्हारे पैर सही जगह पर पड़े हैं तब सीधे खड़े हो।
  3. मित्र वो है जिसके शत्रु वही हैं जो आपके शत्रु हैं।
  4. कुछ करने की इच्छा रखने वाले व्यक्ति के लिये इस दुनिया में कुछ भी असंभव नहीं है।
  5. एक पेड़ काटने के लिए आप मुझे 6 घंटे दें और मैं पहले 4 घंटे अपनी कुल्हाड़ी की धार तेज करने में लगाऊंगा।
  6. यदि आप एक बार अपने साथी का भरोसा तोड़ दें, तो आप फिर कभी उनका सम्मान नहीं पा सकेंगे।

निधन

सन् 15 अप्रैल 1865 को वांशिंगटन के एक सिनेमा हॉल में लिंकन को गोली मारकर हत्या कर दी गई ,गोली मारने वाला शख्श मशहूर अभिनेता जॉन विल्केस बूथ था इसके बाद 10 दिन के अंदर ही अंदर इसे अमेरिकी सैनिको के द्रारा मार गिराया गया था।

 

 

  


Post a Comment

0 Comments