Ticker

6/recent/ticker-posts

अटल बिहारी वाजपेयी की जीवनी Atal Bihari vajpayee biography in hindi

अटल बिहारी वाजपेयी की जीवनी


Atal Bihari vajpayee biography in hindi
Atal Bihari vajpayee biography in hindi

अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म

अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म सन् 25 दिसम्बर 1924 भारत की ग्वालियर सिटी में हुआ था। उनके पिता का नाम कृष्णा बिहारी वाजपेयी और माता का नाम कृष्णा देवी था। अटल बिहारी वाजपेयी के अपने गॉव के महान कवी और एक स्कूल मास्टर थे इनके माता पिता की कुल सात संताने थीं  जिनमें से अटल जी के चार भाई और तीन बहनें थी।


अटल जी की शिक्षा

अटल बिहारी वाजपेयी जी ने अपनी प्रांरम्‍भिक पढाई ग्वालियर के बारा गोरखी ग्राम से स्कूल से शिक्षा ग्रहण की। इसके बाद आगे की पढाई के लिए ग्वालियर विक्टोरिया कॉलेज गये और वहां से हिंदीइंग्लिश और संस्कृत में स्नातक की उपाधि प्राप्त की। इसके बाद उन्होंने कानपूर के दयानंद एंग्लो- वैदिक कॉलेज से पोलिटिकल साइंस में अपना पोस्ट ग्रेजुएशन एम. में पूरा किया और राजनीति शास्त्र में प्रथम श्रेणी में स्नातकोत्तर की उपाधि अर्जित की।इसके लिये उन्हें फर्स्ट क्लास डिग्री से भी सम्मानित किया गया था।


इन्‍हें भी पढे - आचार्य चाणक्य का जीवन परिचय

 

अटल जी का राजनैतिक सफ़र

अटल जी का राजनैतिक सफ़र स्वतंत्रता संग्रामी के रूप में शुरू हुआ। सन् 1942 में भारत छोड़ो आन्दोलन में बाकि नेताओं के साथ उन्होंने भाग लिया और 24 दिन तक कारावास जेल भी गए सन् 1954 में बलरामपुर से वे मेम्बर ऑफ़ पार्लियामेंट चुने गए। जवानी के दिनों में भी अटल जी को अपनी सोच व समझ के कारण राजनीती में काफी आदर व सम्मान मिला। 1979 में जब मोरारजी देसाई ने प्रधानमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया, तब जनता पार्टी भी बिखरने लगी. अटल जी ने सन् 1980 में लाल कृष्ण आडवानी भैरव सिंह शेखावत के साथ मिल कर भारतीय जनता पार्टी BJP बनाई और पार्टी के पहले राष्ट्रीय अध्यक्ष बन गए। अगले पांच सालों तक अटल जी ही पार्टी के अध्यक्ष रहे। सन् 1984 के चुनाव में बीजेपी सिर्फ 2 सीट से हारी जिसके बाद अटल जी ने पार्टी को मजबूत बनाने के लिए जी तोड़ काम किया और पार्लियामेंट के अगले चुनाव 1989 में बीजेपी 88 सीटों की बढ़त के साथ आगे रही।

वे उस समय आर्य समाज की युवा शक्ति माने जाते थे और 1944 में वे उसके जनरल सेक्रेटरी भी बने। 1939 में एक स्वयंसेवक की तरह वे राष्ट्रिय स्वयंसेवक संघ आर एस एस में शामिल हो गये। और वहा बाबासाहेब आप्टे से प्रभावित होकर उन्होंने 1940-44 के दर्मियान आर एस एस प्रशिक्षण कैंप में प्रशिक्षण लिया और 1947 में आरएसएस के फुल टाइम वर्कर बन गये।

अटल बिहारी वाजपेयी भारत के 10 वे पूर्व प्रधानमंत्री है। वे पहले 1996 में 13 दिन तक और फिर 1998 से 2004 तक भारत के प्रधानमंत्री बने रहे। वे भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता है, भारतीय राष्ट्रिय कांग्रेस रहित भारत की पांच साल तक सेवा करने वाले वे पहले प्रधानमंत्री थे। इसके अलावा लोकसभा चुनावो में वाजपेयी जी ने नौ बार जीत हासिल की है। जब उन्होंने स्वास्थ समस्या के चलते राजनीती से सन्यास ले लिया था तब उन्होंने 2009 तक लखनऊ, उत्तर प्रदेश के संसद भवन की सदस्य बनकर भी सेवा की है।


Atal Bihari vajpayee biography in hindi
Atal Bihari vajpayee biography in hindi

अटल जी का निजी जीवन

अटल बिहारी वाजपेयी ने  ने अपने जीवन में किसी से शादी नहीं की पर उन्होंने एक लड़की को गोद लिया, जिसका नाम नमिता है। दिल्ली में कृष्णमेनन मार्ग स्थित सरकारी आवास में रहते थें।


निधन

अटल बिहारी वाजपेयी को 2009 में एक दौरा पड़ा था, जिसके बाद वह बोलने में अक्षम हो गए थे। लेकिन उन्हें 11 जून 2018 में किडनी में संक्रमण और कुछ अन्य स्वास्थ्य समस्याओं की वजह से अखिल भारतीय आयु र्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती कराया गया था, जहाँ 16 अगस्त 2018 को शाम 05:05 बजे उनकी मृत्यु हो गयी।


अवार्ड व सम्‍मानित पुरूस्‍कार

  • सन 1992 में पद्म विभूषण
  • सन 1994 में लोकमान्य तिलक अवार्ड।
  • सन 1994 में बेस्ट सांसद अवार्ड।
  • सन 1994 में पंडित गोविंद वल्लभ पंत अवार्ड।
  • सन 2015 में भारत रत्न






इन्‍हें भी पढे

Post a Comment

0 Comments